YOGIYOJANA.CO.IN : सरकारी योजनाओं की जानकारी हिंदी और अंग्रेजी में, सरकारी योजना : Sarkari Yojana in Hindi / English | प्रधानमंत्री व राज्य सरकार की योजनाएं 2020​

Tuesday, 27 October 2020

मध्य प्रदेश श्रम सिद्धि अभियान 2020 जॉब कार्ड - हर मजदूर को मिलेगा रोजगार [MP Shram Siddhi Abhiyan]

मध्य प्रदेश सरकार ने श्रमिकों के लिए श्रम सिद्धि अभियान 2020 (Shram Siddhi Abhiyan) लांच कर दिया है| इस श्रम सिद्धि योजना के अंतर्गत राज्य में मौजूद प्रत्येक श्रमिक को काम उपलब्ध कराया जाएगा| कोरोना (कोविड-19) संकट और लॉक डाउन के बीच मध्यप्रदेश सरकार ने श्रमिकों को य‍ह तोहफा दिया है। इस श्रम सिद्धि योजना (shram siddhi yojana) के अंतर्गत ग्रामीण क्षेत्र में हर व्यक्ति को जॉब कार्ड बनाकर कार्य दिया जाएगा।
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने वीडियो कॉन्फ़्रेंसिंग के माध्यम से श्रम सिद्धि अभियान की शुरूआत की| इस स्कीम के अंतर्गत राज्य मे रहने वाले मध्य प्रदेश के मज़दूर (जो यहीं जन्मे है) तथा प्रवासी मजदूर (जो काम की तलाश में राज्य मे आये है और यहीं पर रह रहे हैं), दोनों को ही रोजगार दिया जाएगा|    
मुख्यमंत्री जी ने कुछ ग्राम पंचायतों के सरपंचों तथा मजदूरों से बातचीत कर श्रम सिद्धी अभियान की जानकारी दी| इसके साथ ही उन्होंने वहां चल रहे कार्यों की जानकारी भी प्राप्त की।

श्रम सिद्धि योजना मज़दूर जॉब कार्ड 2020  

इस कोरोना वैश्विक महामारी से राज्य और देश के मजदूरों को बहुत दिक्कत का सामना करना पड़ा है| बहुत से राज्य के तथा प्रवासी श्रमिक अपनी नौकरी से निकाले जा चुके है और उनका जीवन यापन भी नहीं हो पा रहा है| इसलिए, मध्य प्रदेश राज्य सरकार ने श्रमिकों की भलाई के लिए श्रम सिद्धि योजना की शुरुआत की है| इस योजना के अंदर ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले हर व्यक्ति को जॉब कार्ड बना कर कार्य प्रदान किया जाएगा|  

कैसे मिलेंगे श्रम सिद्धि अभियान जॉब कार्ड 

जॉब कार्ड बनाने के लिए मध्य प्रदेश सरकार घर-घर जा कर सर्वे करेगी| जिस भी व्यक्ति के पास जॉब कार्ड नहीं है उनके जॉब कार्ड बनाकर दिए जाएंगे। 
A) जो मजदूर अकुशल होंगे उन्हें मनरेगा में कार्य दिलाया जाएगा (unskilled labourers to get work in MGNREGA). 
B) कुशल मजदूरों को उनकी योग्‍यता के अनुसार काम दिलाया जाएगा (skilled workers to get work as per their qualification, skills and talent).
कोरोना संकट के दौरान प्रदेश के मजदूरों, किसानों, गरीबों आदि की निरंतर सहायता की गई है। मजदूरों को उनके खातों में राशि भिजवाई गई, बच्चों को छात्रवृत्ति की राशि, सामाजिक सुरक्षा पेंशन हितग्राहियों को दो माह की अग्रिम पेंशन दी गयी है| 

इसके साथ ही सहरिया, बैगा, भारिया जनजाति की बहनों को राशि, प्रधानमंत्री आवास योजना के हितग्राहियों, मध्यान्ह भोजन के रसाईयों आदि को राशि उनके खातों में अंतरित की गई। किसानों को फसल बीमा की राशि, शून्य प्रतिशत ब्याज पर ऋण तथा गेहूं उपार्जन की राशि उनके खातों में भिजवाई गई।

दो माह का नि:शुल्क राशन

प्रत्येक ग्राम में पहले तीन माह का उचित मूल्य राशन प्रदाय किया गया था। अब दो माह का नि:शुल्क राशन प्रदान किया गया है। यह राशन राशन कार्डधारियों के अलावा उन्हें भी दिया जा रहा है जिनके पास राशन कार्ड नहीं है। वर्तमान में प्रदेश की 22 हजार 809 ग्राम पंचायतों में से 22 हजार 695 में मनरेगा के कार्य चल रहे हैं। इन कार्यों में अभी तक 21 लाख 01 हजार 600 मजदूरों को रोजगार दिया गया है, जो कि गत वर्ष की तुलना में लगभग दो गुना है।

संबल योजना का पुन: प्रारंभ

प्रदेश में संबल योजना को पुन: प्रारंभ किया है। अब प्रवासी मजदूरों को भी इस योजना से जोड़ा जा रहा है। इसके अंतर्गत गरीबों के बच्चों की फीस, बच्चे के जन्म व उसके बाद मां को 16 हजार रूपए की राशि, बच्ची के विवाह की व्यवस्था, सामान्य मृत्यु पर 02 लाख, दुर्घटना में मृत्यु पर 04 लाख तथा अंतिम संस्कार के लिए 05 हजार रूपए प्रदाय किये जाते हैं।

अच्छा कार्य करने वाली ग्राम पंचायतों को पुरस्कार मिलेगा

प्रदेश में अच्छा कार्य करने वाली ग्राम पंचायतों को अब से पुरस्कार दिया जाएगा जो की इस प्रकार है:-
1) प्रथम पुरस्कार - 2 लाख रूपए  
2) द्वितीय पुरस्कार - 1 लाख रूपए 
3) तृतीय पुरस्कार - 50 हजार रूपए 

यह पुरस्कार सबसे ज्यादा जॉब कार्ड बनवाने, सबसे ज्यादा मजदूरों को काम पर लगवाने, सबसे ज्यादा कार्य प्रारंभ करवाने, सबसे ज्यादा स्थाई महत्व की संरचनाएं बनवाने तथा श्रेष्ठ गुणवत्ता के कार्य किए जाने पर दिए जाएंगे।

No comments:

Post a comment