Yogi Yojana List 2024 (नई सरकारी योजनाओं की सूची)

Yogi Yojana List 2024 (नई सरकारी योजनाओं की सूची)

प्रधानमंत्री मोदी एवं विभिन्न राज्य के मुख्यमंत्री द्वारा शुरू की गयी सभी योजनाएं, केंद्र व राज्य सरकार की योजनाएँ 2024, सरकारी योजना हिंदी और अंग्रेजी में योगी योजना वेबसाइट पर

PM Garib Kalyan Anna Yojana (PMGKAY) Extension for Next Five Years - 80 crore People to Get Free Ration till 1 January 2029

**मेरे प्यारे साथियों** आज हम आपको प्रधान मंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना से सम्बंधित एक नयी अपडेट के बारे में बतायेंगे। केंद्र सरकार ने PM Garib Kalyan Yojana को अगले 5 सालों के लिए बढ़ा दिया है जिससे 80 करोड़ लोगों को मुफ्त राशन वितरित किया जाएगा। गरीब परिवार अब 1 January 2029 तक मुफ्त राशन योजना का लाभ ले सकेंगे।  
पीएम गरीब कल्याण अन्न योजना से लाभार्थियों को कृषि खर्च और त्योहारों के समय में बढ़ने वाले खर्चो से काफी राहत मिलती है। अगले 5 साल तक फ्री राशन बांटने के लिए मोदी सरकार को करीब 11.80 लाख करोड़ रूपये (हर साल 2.36 लाख करोड़ रुपये) का अतिरिक्त व्यय करना पड़ेगा।  

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने पीएम गरीब कल्याण अन्न योजना को पहली बार अप्रैल 2020 को लागू किया था। प्रधानमंत्री ने कहा था कि किसानों ने देश के अन्न भंडारो को भर दिया है, हम आत्मनिर्भर भारत का संकल्प पूरा करेंगे। आगे भी लोगों को आसानी से राशन उपलब्ध हो इस बात का ख्याल रखा जा रहा है। सरकार इस योजना के तहत लोगो को मुफ्त राशन बांट रही है जिसे सन 2029 तक के लिए बढ़ाया गया है। तो आइए सबसे पहले पीएम गरीब कल्याण अन्न योजना के बारे में पूरी जानकारी हम आपको देते है।

PMGKAY Extension till the Year 2029 

सन 2024 में आने वाले लोक सभा चुनावों के मद्देनज़र प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने PM Garib Kalyan Anna Yojana  को अगले 5 साल के लिए बढ़ाने का निर्णय लिया है। पीएम मोदी ने एक सभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि "मैंने निश्चय कर लिया है कि देश के 80 करोड़ गरीबों को मुफ्त राशन देने वाली योजना को भाजपा सरकार अब अगले 5 साल के लिए और बढ़ाएगी। आपका प्यार और आशीर्वाद मुझे हमेशा पवित्र निर्णय करने की ताकत देता है।" इस योजना के अंतर्गत हर पात्र व्यक्ति को केंद्र सरकार हर महीने 5 किलो मुफ्त राशन देती है।  
केंद्र सरकार ने कोरोना महामारी के दौरान पीएम गरीब कल्याण अन्न योजना की शुरुआत की थी। कोरोना महामारी के बाद लॉकडाउन समेत कई सख्त पाबंदियां लगाई गई थीं। जिसकी वजह से लोगों की रोजी-रोटी पर काफी असर पड़ा था। ऐसे में पीएम मोदी की अगुवाई वाली केंद्र सरकार ने गरीब आबादी की मदद के लिए फ्री राशन स्कीम की शुरुआत की थी। 

मुफ्त राशन से गरीबों को होगा फायदा 

अगले 5 साल तक फ्री में राशन मिलता रहेगा। पीएम मोदी ने योजना को 5 साल बढ़ाने का ऐलान किया है। प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना से 80 करोड़ लोगों को लाभ मिलेगा। कोरोना महामारी के बाद योजना की शुरुआत हुई थी, 31 दिसंबर 2023 में समय खत्म हो रहा था। 1 January 2024 से इस योजना को अगले पांच साल यानी 1 January 2029 तक बढ़ा दिया गया है, अब एक जनवरी 2029 तक गरीबों को इस योजना का लाभ मिलता रहेगा। प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत हर गरीब को मुफ्त में 5 किलोग्राम फ्री गेंहू या चावल दिया जाता है। 

पीएम गरीब कल्याण अन्न योजना के 9 चरण

प्रश्न यह है कि पीएम गरीब कल्याण अन्न योजना का क्या महत्व है? इसका उत्तर ये है की PMGKAY योजना खास तौर से ऐसे लोगों के लिए है जो आर्थिक रूप से कमजोर वर्गों से तालुक रखते है और जो मेंहनत मजदूरी करके अपना जीवन यापन कर रहे है। इस योजना को कोरोना वायरस  लॉकडाउन के समय प्रधान मंत्री गरीब कल्याण योजना (PMGKY) के अंतर्गत शुरू किया गया था जो बाद में आत्मनिर्भर भारत अभियान के 20 लाख करोड़ के आर्थिक पैकेज का भाग बन गया था। इसका सबसे बड़ा उद्देश्य उन गरीब साथियों को मुफ्त भोजन उपलब्ध करवाना था जो रोजगार या दूसरी आवश्कयताओ के लिए अपना गांव छोड़कर के कही बाहर राज्य में रह रहे थे। कोविड-19 लॉकडाउन के समय पर प्रवासी मजदूर अपने बच्चे को क्या खिलाए, इस समस्या के समाधान के तौर पर प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना को शुरू किया गया था। 

गरीब साथी और उनके बच्चे भूखे न रहे, मोदी सरकार ने यह सब देखते हुए पीएम गरीब कल्याण अन्न योजना का प्रारम्भ किया था। जैसे की पीएम गरीब कल्याण योजना पैकेज में घोषणा की गई थी की मोदी सरकार 80 करोड़ लोगों को मुफ्त में भोजन उपलब्ध कराएगी, वैसे ही अब भी राशन बांटा जाएगा। हर व्यक्ति को प्रति माह 5 किलोग्राम चावल या गेहूं मिलेगा। अब तक हुए PM Garib Kalyan Anna Yojana के 9 चरणों की जानकारी इस प्रकार है:-
  • पहला चरण - अप्रैल 2020 से जून 2020 (5 किलो चावल या गेहूं और 1 किलो चना फ्री)
  • दूसरा चरण - जुलाई 2020 से नवंबर 2020 (5 किलो चावल या गेहूं और 1 किलो चना फ्री)
  • तीसरा चरण - मई 2021 से जून 2021 (5 किलो चावल या गेहूं फ्री)
  • चौथा चरण - जुलाई 2021 से नवंबर 2021 (5 किलो चावल या गेहूं फ्री)
  • पाँचवा चरण - दिसंबर 2021 से मार्च 2022 (5 किलो चावल या गेहूं फ्री)
  • छठा चरण - मार्च 2022 से सितम्बर 2022 (5 किलो चावल या गेहूं फ्री) 
  • सातवां चरण - अक्टूबर 2022 से दिसंबर 2022 (5 किलो चावल या गेहूं फ्री)
  • आठवां चरण - दिसंबर 2022 से दिसंबर 2023 (5 किलो चावल या गेहूं फ्री)
  • नौवां चरण - जनवरी 2024 से जनवरी 2029 (5 किलो चावल या गेहूं फ्री)     
लोगों को मुफ्त में राशन मुहैया कराने के लिए प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना की अंतिम तिथि 1 जनवरी 2029 तक बढ़ा दी गयी है। अब प्रत्येक गरीब व्यक्ति को प्रति माह 5 किलो चावल या गेहूं अतिरिक्त प्राप्त करने का अधिकार है जो हर गरीब परिवार को मिलने वाले गेंहू और चावल से अलग होगा। 

राशन न मिलने पर इस तरह करें शिकायत

अगर आपको राशन की दुकान पर मुफ्त राशन (Free Ration Scheme) मिलने में परेशानी हो रही है तो आप नेशनल फूड सिक्योरिटी पोर्टल (NFSA) के टोल फ्री नंबर पर कॉल करके अपनी शिकायत दर्ज करा सकते हैं. हर राज्य सरकार राशन से जुड़ी समस्या के लिए एक टोल फ्री नंबर जारी करती है. आप इस नंबर को राशन की दुकान या राज्य की वेबसाइट पर चेक कर सकते हैं. इसके अलावा आप इसकी ऑफिशियल वेबसाइट https://nfsa.gov.in/ पर क्लिक करके करके शिकायत दर्ज करा सकते हैं.
 

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना का लाभ बिना राशन कार्ड /आईडी प्रमाण के मिलेगा

सरकार के अधिकार प्राप्त समूहों और वरिष्ठ अधिकारियो की सिफारिशों के अनुसार, राशन कार्ड और अन्य आईडी आवश्यकताओ को हटाया जा चुका है। यह प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना 2023 के तहत गरीब लोगों तक भोजन की पहुंच बढ़ाएगा जो कि मोदी सरकार की एक प्रमुख योजना है। सरकार ने उन सभी को मुफ्त भोजन प्रदान करने की घोषणा की है, जिन्हे 1 जनवरी 2029 तक अन्न की आवश्यकता है। 

प्रधानमंत्री कार्यालय ने मुफ्त भोजन वितरण के दौरान राशन कार्ड और आईडी प्रूफ की आवश्यकता को हटा दिया है। यह आवश्यक है क्योकि असंगठित क्षेत्र के कई मजदूर अभी भी सार्वजनिक वितरण प्रणाली नेटवर्क के भीतर नहीं है। इसके अलावा यह संभव हो सकता है कि अन्य राज्यों में दैनिक वेतन भोगी मजदूरो ने अपने परिवारों के उपयोग के लिए अपने घर पर अपना राशन कार्ड छोड़ दिया हो। वे जीवित रहने के लिए दैनिक कमाई पर भरोसा करते है और अब काफी असहाय है। 

इस कदम के द्वारा केंद्र सरकार सभी राज्य सरकार से आईडी /राशन कार्ड के बिना लोगों को मुफ्त खाद्य सामग्री और अनाज वितरित करने के लिए कह रही है। इस कदम को उस अभूर्तपूर्व दशा को ध्यान में रखते हुए जल्द से जल्द लागू किया गया है। यह भी सलाह दी जाती है कि सूखा भोजन राशन केवल उन लोगो को वितरित किया जाना चाहिए जिन्हे इसकी आवश्यकता है वो भी राशन कार्ड पर जोर दिए बिना। 

किसको मिलेगा PM Garib Kalyan Anna Yojana के तहत मुफ्त राशन 

  • किसान 
  • जन-धन खाताधारक
  • गरीब महिलाऐं  
  • मनरेगा के तहत काम करने वाले मजदूर 
  • औरतों के द्वारा चलाये गए स्वयं सहायता समूह 
  • बूढ़े लोग 
  • विधवा / निराश्रित महिलाऐं
  • शारीरिक रूप से असमर्थ व्यक्ति  
  • प्राइवेट कंपनियों में काम करने वाले कर्मचारी
  • प्रवासी कामगार
  • अन्तोदय अन्न योजना और PHH के लाभार्थी  

PMGKY पैकेज में प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना में आईडी कि आवश्यकता को दूर करके सरकार यह सुनिश्चित कर रही है  कि कोई भी बिना भोजन के ना जाए। केंद्रीय सरकार भारतीय खाद्य निगम के गोदामों में पर्याप्त खाद्य भंडार है, इसलिए यह निर्णय काफी आसानी से लागू किया जा रहा है। इस योजना की विशेषतायें निम्नलिखित है :-
  • लगभग 80 करोड़ लोग लाभान्वित होंगे। 
  • रोज कमाने वाले गरीबों, प्रवासी मजदूरों, शहरी गरीबो सहित सभी गरीब लोगों को मुफ्त राशन प्रदान किया जाएगा। 
  • प्रत्येक परिवार को प्रति माह 5 किलोग्राम गेंहू या चावल फ्री मिलेगा। 
  • यह योजना 31 दिसंबर 2023 तक वैध थी, अब इसे 1 जनवरी 2029 तक की अवधि के लिए बढ़ा दिया गया है।  
ऐसा महसूस होता है कि केंद्रीय सरकार कम से कम अस्थायी रूप से कागजी कार्रवाई की आवश्यकताओ को दूर करने के लिए राज्यों को निर्देश जारी कर सकती है। हालांकि, इस मुफ्त भोजन तक पहुंच के लिए उचित मूल्यों की दुकानों या सार्वजनिक वितरण केंद्र की दुकानों पर अब संबंधित राशन कार्ड दिखाना आवश्यक नहीं है। 

Post a Comment

0 Comments